fbpx

Fundamental duties in Hindi and importance of fundamental duties in Hindi language

भारत के संविधान में आरम्भ में नागरिकों के लिए fundamental duties in hindi मूल कर्तव्य का उल्लख नहीं था। fundamental duties मूल कर्तव्य को 42 वें संविधान संशोधन अधिनियम सन् 1976 के द्वारा जोड़ा गया है।

History of Fundamental Duties in Hindi –

विश्व में fundamental duties मूल कर्तव्य का सर्वप्रथम उल्लेख पूर्व सोवियत संघ या रूस में अपने संविधान में नागरिकों के fundamental duties मूल कर्तव्य का स्पष्ट उल्लेख किया था। लेकिन विश्व का प्रथम प्रजातांत्रीक देश जापान था जिसनें अपने नागरिकों को fundamental duties मूल कर्तव्य का स्पष्ट उल्लेख किया और उसके बाद भारत है।
importance of fundamental duties in hindi
fundamental duties in hindi
भारत के मूल संविधान में fundamental duties मूल कर्तव्य का उल्लेख नहीं किया गया था। जिसे 42 वें संविधान संशोधन अधिनियम के द्वारा सन् 1976 में सरदार स्वर्ण सिंह समिति के आधार पर जोड़ा गया।
सरदार स्वर्ण सिंह समिति नें 8 प्रकार के fundamental duties मूल कर्तव्य का उल्लेख किया लेकिन, संविधान में 10 fundamental duties मूल कर्तव्य को जोड़ा गया। लेकिन वर्तमान समय में कूल 11fundamental duties मूल कर्तव्य है।
11 वां fundamental duties मूल कर्तव्य को 86वां संविधान संशोधन अधिनियम सन् 2002 के द्वारा जोड़ा गया जिसमें 6 से 14 साल के बीच बच्चों को शिक्षा का अवसर उपलब्ध कराना है।
importance of fundamental duties in hindi
fundamental duties in hindi
भारत के fundamental duties मूल कर्तव्य को रूस से लिया गया है। जिसे भारतीय संविधान के भाग 4(क) के अनुच्छेद 51(क) मे 42 वां संविधान संशोधन अधिनियम सन् 1976 के द्वारा कूल 10fundamental duties मूल कर्तव्य को जोड़ा गया।
लेकिन वर्तमान समय में कूल 11 fundamental duties मूल कर्तव्य है। 11वां को 86 वें संविधान संशोधन अधिनयम सन् 2002 के द्वारा जोड़ा गया।
Read More and Click Here :-

Define Fundamental Duties in Hindi :-

⇰ संविधान का पालन करें और उसके आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्र-ध्वज और राष्ट्रगान का आदर करें।
⇰ स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले उच्च आदर्शों को हृदय में संजोए रखें उनका पालन करें।
⇰ भारत की संप्रभूता, एकता, अखंडता की रक्षा करें और उसे अक्षुण्ण रखें।
⇰ देश की रक्षा करें और आहान किए जाने पर राष्ट्र की सेवा करें।
⇰ भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करें जो धर्म, भाषा, और प्रदेश या वर्षा आधारित सभी भेदभाद से परें हों, ऐसी प्रथाओं का त्याग करें जो स्त्रियों के सम्मान के विरूद्ध हैं।
⇰ हमारी सामासिक संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझें और उसका परिरक्षण करें।
⇰ प्राकृकित पर्यावरण की, जिसके अंतर्गत वन, झील, नदी और वन्य जीव हैं, रक्षा करें और उसका संवर्धन करें तथा प्रार्णमात्र के प्रति दया भाव रखें।
⇰ वैज्ञानिक दृष्टिकोण मानववाद और ज्ञानर्जन तथा सुधान की भावना का विकास करें।
⇰ सर्वाजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखें और हिंसा से दूर रहें।
⇰ व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का सतत् प्रयास करें जिससे राष्ट्र निरंतर बढ़ते हुए प्रयत्न और उपलब्धियों की नई उचाईं को छू ले।
⇰ 6 से 14 साल तक के उम्र के बीच अपने बच्चों को शिक्षा के अवसर उपलब्ध कराना। (इसे 86 वें संविधान संशोधन अधिनियम सन् 2002 के द्वारा जोड़ा गया।)
Click Here to Know about =Indian Polity in Hindi

Ram Pal Singh

Hi, This is Ram Pal Singh. I am a Profocinal Blogger and content writer, and Now I am working in the Government Sector in Uttar Pradesh.

This Post Has One Comment

Leave a Reply

Close Menu